Happy holi essay in hindi. होली पर निबंध।

आप सभी भारतवासी को होली की हार्दिक शुभकामनाएँ। रंगो का ये त्योहार हमारे जीवन की तरह आपके जीवन मे भी खुशियाँ बिखेड़ देँ। ▪होली क्या है :
फाल्गुन मास मे मनाएँ जाने वाला रंगो के त्योहार को होली कहते है। इस दिन सभी एक-दूसरे को रंग लगाकर होली के इस त्योहार का जश्न मनाते है। फाल्गुन मास से ग्रीष्म के महीने मे इसका आगमन हो जाता है, ग्रीष्म मे होली के इस पावन त्योहार का आंनद सभी भारतवासी एक-दूसरे को रंग लगाकर लेते है। इस दिन सभी सफेद कपड़े पहनकर रंगो के इस त्योहार को अपने जीवन मे रंग लगाकर धारण करते है। होली का त्योहार प्रेम और शांति का प्रतिक माना जाता है। इस दिन पराएँ भी अपने बन जाते है, और आपस के मतभेद को भुलाकर एक-दूसरे को रंग लगाकर अपने ने जीवन का आरंभ करते है।
Happy-holi-essay

होली कब मनाई जाती है : होली हिन्दुओँ का श्रेष्ट त्योहार है,यह त्योहार फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता हैँ। पूर्णिमा की रात मे नगर के चौराहे पर होलिका दहन होता हैँ।और होलिका दहन के अगले ही दिन रंग और गुलाल से सब लोग होली खेलते है। यह त्योहार हमारे देश के सभी हिस्सोँ मेँ बड़ी धूमधाम से मनाया जाता हैँ। इस दिन पराएँ भी अपने बन जाते है, ओर सारे मतभेद भुलाकर गले लगा लेते है। इस त्योहार का उत्साह ज्यादातर बच्चे, नवयुवक/नवयुवतियो मे देखने को मिलता हैँ। उत्तर भारत मे यह त्योहार बड़े धुमधाम से मनाया जाता है।


होली के रंगो का महत्व : अपने दैनिक जीवन की तरह ही होली के रंगो का भी भारतीय परंपरा मे बहुत अधिक महत्व है, होली के ये रंग भाईचारे ओर मिलन का प्रतिक है।

  • होली के लाल रंग का महत्व : इस लाल रंग का महत्व हमारे भारतीय परंपरा मे बहुत अधिक है, ये लाल रंग प्रेम, क्रोध, ऊर्जा और साहस का प्रतिक माना जाता है।
  •  होली के सफेद रंग का महत्व : सफेद रंग शांति और संवेदना का प्रतिक है। इसी कारण इस दिन सभी सफेद रंग के वस्त्र धारण कर शांतिपूर्वक इस त्योहार को प्रेम भाव के साथ मनाते है।
  •  होली के हरे रंग का महत्व : हरे रंग का महत्व शीतलता, हरियाली, ओर सकारात्मक का प्रतीक हैं।यह रंग जीवन मे महत्वपूर्ण फैसले लेने मे शीतलता प्रदान करते है। तभी तो इस दिन पराएँ भी अपने बन जाते है।
  • होली के पीले रंग का महत्व : पीले रंग का महत्व होली ही नही बल्कि पूरे फाल्गुन मास मे इसका बहुत अधिक महत्व होता है। विद्या की देवी 'माँ सरस्वती' को भी पीले पुष्प, पीले भोजन ओर पीले वस्त्र से बहुत ज्यादा स्नेह था।
  • होली के नीले रंग का महत्व : नीला रंग आसमान के भाँति शांत ,शीतलता और प्रेम का प्रतिक माना जाता है। इस रंग का हमारे जीवन मे बहुत अधिक योगदान होता है। यह रंग हमारे इंद्रियो को भी काबू मे रखते है।

होली मनाने का तरीका : होली पूरे भारतवर्ष मे बड़े धुमधाम से मनाया जाता है, लोग एक-दूसरे को रंग लगाकर अपनी खुशी को व्यक्त करते है। देश के सभी हिस्सो मे इस तयोहार को बड़ी धुमधाम से मनाया जाता है। परंतु वृंदावन  मे यह त्योहार विशेष उत्साह और उमंग के साथ मनाया जाता है, वहाँ के लोग इस त्योहार को पैतालिस दिन तक मनाते है।
☆Happy holi☆

Post a Comment

0 Comments