2019 नए साल की हार्दिक शुभकामनाऍ। Happy new year 2019

आज हमारे पूरे भारत देश नए साल का आगमन होने वाला हैं। अर्थात् आज हम पुराने साल 2018 को विदा कर नए साल 2019 का स्वागत करेगे, इसलिए आप सभी को आनलाईन टैक्नो की तरफ से नए साल की  हार्दिक शुभकामनाऍ।
हम कामना करते हैं,कि आप सभी के जीवन मे नए साल की तरह एक नई ऊर्जा, नया उमग,नया जोश का विस्तार हो।
 
भारतीय पंचाग के हिसाब से नव बर्ष की शुरुआत चैत्र मास में प्रथम नवरात्रे के दिन से होता है।काफी लम्बे समय तक अंग्रेजी शासन चलने के कारण आज भी उनके मनाएँ गए त्योहारों और परम्पराओं का आभाव अभी भी देखने को मिलता हैँ। परंतु इतना कुछ होने के बाद भी हम भारतीय लोग सभी इस त्योहार को बड़े धुमधाम से मनाते है। अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक 31 दिसम्बर साल का आखरी दिन ओर 1 जनवरी से नए साल की शुरुआत होती है। नया साल व्यक्ति को अपने जीवन मे कुछ नया करने का अवसर प्रदान करता है, ताकि हम अपने जीवन मे कुछ हासिल कर सके। इस दिन सभी लोग नए - नए कपडे खरीदते है, एक दूसरे को नव वर्ष की शुभकामनाएँ देते हैँ। घर के छोटे बड़ो का पेर छूकर अपने सफल भविष्य के लिए उनसे आर्शिवाद लेते है,ओर फिर आपस मे उपहारो का लेन-देन होता है। सभी के घरो मे तरह तरह के पकवान बनते है, सभी लोगो के मन मे एक नया उत्साह देखने को मिलता है। नए साल का जोश और उत्साह पूरे भारत देश मे एकसमान देखने को मिलता है,और यही एक समानता हमारे देश के एकता का प्रतीक है। सभी लोग साल के आखरी दिन को खुशी -खुशी विदा करते है, इस दिन सभी अपने-अपने दोस्तो,रिस्तेदारो के साथ भोज का आनंद लेते है। ओर साल के आखिरी दिन सभी रात के 12 बजने का इंतजार करते है, ताकि एक दुसरे से गले मिलकर नए साल की मुबारकबाद देते है।
नए साल के इस शुभ अवसर पर सभी अपने-अपने जीवन मे गलत आदतो को छोड़ने का प्रण लेते है।ओर साथ ही अपने जीवन मे नेक काम करने की कसम खाते है।

Resolution: चलिए खुशी के इस शुभ अवसर पर अपने जीवन मे संकल्प लेते है-

-नव वर्ष इस शुभ अवसर पर हम अपने अंदर के सभी मन-मुटाव,ईष्या,भेदभाव को दूर करके सभी के साथ मिलजुल कर रहेंगे। -हमारे भारतीय संस्कृति मे एक बहुत पुरानी कहावत है- "अतिथि देवो भव " अर्थात् अतिथि देवता के समान है।अतः धर आए अतिथि का स्वागत बहुत प्रेम,विनम्रता ओर आत्मीयता की भावना सेँ करेँगेँ। -लडकियो का सम्मान करेंगे, उनको कभी भी बुरी नजरों से नही देखेंगे। -स्वच्छ भारत अभियान के साथ जुड़कर उसमे अपना पूर्णरुप से सहयोग करेंगे। -हम अपनी संस्कृति ओर भारत देश को कभी भी छोड़ कर नहीं जाएंगे। -जीवन मे ऐसे नेक काम करेंगे ताकि हमारा ओर हमारे भारत माँ का नाम हो सकेे। -इस वर्ष हम उसी को वोट देंगे,जो सच्चा ओर ईमानदार होगाा। ताकि कोई भी हमारे ओर हमारे देश के साथ खिलवाड़ न कर सके। सही का साथ दे आपका एक वोट बहुत कीमती हैँ।
-अपने माता-पिता का बुढापेँ सहारा बनेगेँ,ओर उनका आदर और सम्मान करेँगेँ।ओर उनको कभी भी अपने सेँ दूर नहीँ करेँगेँ।
-अपनेँ सेँ बड़ो का आदर ओर छोटोँ को अपना स्नेह ओर प्यार देँगेँ।
-इस वर्ष सेँ हम अपनेँ सभी बुरी आदतो को त्याग कर अच्छी आदतो को अपनाएँगेँ।
-जीवन मेँ सदा सत्य की राह पर चलेँगेँ,ओर कभी भी बुरेँ का साथ नहीँ देँगेँ।
-ओर अंत मेँ हम यह प्रण लेते हैँ कि इस भारत माँ की शान को बनाएँ रखनेँ के लिए सदैँव तट पर रहेँगेँ।
      आपनेँ इस नव वर्ष कोन-कोन  सेँ संकल्प या मूल वचन को अपनाया हैँ अपने जीवन मेँ सफल होने के लिए। आप हमेँ कमेँट कर सकतेँ हैँ।

Post a Comment

0 Comments